राज्य रोलर स्केटिंग हॉकी स्पर्धा से चंद्रपूर से चुने हुये 50 खिलाडीओ को किया गया वापस : व्यक्तिगत स्वर्थ के लिये श्रीमती रमा गर्ग ने खेळा राजनैतिक दाव : चंद्रपूर स्केटिंग संघटन के अध्यक्ष राजेश नायडू और पालको ने लगाये गंभीर आरोप - Khabarkatta ✒ खबरकट्टा

                     Khabarkatta  ✒ खबरकट्टा

Reg.UAM No.MH08D0024084 खबरकट्टा फक्त न्यूज वेबसाईट नसून या माध्यमाच्या साहाय्याने सामाजिक, राजकीय, व्यासायिक, जाणिवेतून फक्त बातमी किंवा खबर याच्याही पलीकडे जाऊन जनमानसांना खंबीर उभे राहण्याचे सामर्थ्य देणारे व्यासपीठ - अभिषेक वांढरे, चंद्रपूर (एक वाचक) """जागरूक रहा : वाचत रहा""'

राज्य रोलर स्केटिंग हॉकी स्पर्धा से चंद्रपूर से चुने हुये 50 खिलाडीओ को किया गया वापस : व्यक्तिगत स्वर्थ के लिये श्रीमती रमा गर्ग ने खेळा राजनैतिक दाव : चंद्रपूर स्केटिंग संघटन के अध्यक्ष राजेश नायडू और पालको ने लगाये गंभीर आरोप

Share This
खबरकट्टा / चंद्रपूर : शहर प्रतिनिधी -



आज दी. 18 नवंबर को दोपहर 2 बजे चन्द्रपुर जिल्हा रोलर हॉकी संघटना और कुछ पालको द्वारा स्थानिक कामगार भवन में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया.

प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुवात चन्द्रपुर जिल्हे के पहले अन्तराष्ट्रीय खिलाड़ी राजेश नायडू ने करते हुए कहा कि आज खेल के लिए दुख की घड़ी है कि 50 बच्चो को राजनीति की वजह से और सत्ता हथियाने की लालच से नंदुरबार से बिना खिलाये वापस भेज दिया गया है.इससे बच्चो का पढ़ाई का, भविष्य का, खेल का नुकसान तो हुआ ही है मगर बच्चो और पालको के दिल को गहरा आघात हुआ है और खेल के प्रति उदासी छा गई है.

अपने निजी स्वार्थ की वजह से महाराष्ट्र राज्य की सचिव बनने की लालच में चन्द्रपुर की सत्ता हथियाने श्रीमती रमा गर्ग को समझ ही नही आया कि वो अपने चन्द्रपुर के ही बच्चो का नुकसान कर रही है. चन्द्रपुर की सफलता से जलकर नागपुर के श्री उपेंद्र वर्मा ने राज्य समिति को झुठे पुरावे देकर चन्द्रपुर जिल्हे की स्केटिंग असोसिएशन की मान्यता रद्द करने का षड्यंत्र रचा.

उनके इस षड्यंत्र में महाराष्ट्र राज्य के स्केटिंग असोसिएशन के अध्यक्ष मुम्बई के श्री पी.के.सींग और सचिव नाशिक के श्री दयानेश्वर बुलंगे कुछ ऐसे शामिल हो गए कि उन्होंने माननीय न्यायालय द्वारा दिये गए आदेश की भी अहवेलना कर के बच्चो को नंदुरबार के राज्य स्पर्धा में खेलने नही दिया.

पत्र परिषद में चन्द्रपुर संघटन के सचिव श्री कुंदन नायडू ने बताया कि हमे सारे कागजात बराबर सौपने के बाद भी राज्य संघटन ने अवैद्य तरीके से बर्खास्त करने की गैरकानूनी प्रक्रिया की.केवल चन्द्रपुर के खिलाड़ियो से डर कर उन्हें स्पर्धा से बाहर रखने का यह महापाप किया गया है.


नंदुरबार में खिलाड़ियों ने आयोजको के पाव पड़े, रोये, मिन्नते करे फिर भी आयोजक बिना पसीजे उल्टा छोटे बच्चो को धक्का मारकर बाहर कर दिए.

ये आज के समय भारत देश मे खेल की सच्चाई है जहाँ खेल से कोई संबंध न होकर भी श्रीमती रमा गर्ग, राकेश तिवारी, प्रोफेसर सींग, दयानेश्वर बुलंगे जैसे लोग खेल संघटन चलाएंगे तो हमारा देश ओलिंपिक में मेडल कहा से लाएगा?

अन्तराष्ट्रीय गोल्ड मेडालिस्ट खिलाड़ी राजेश नायडू और जिल्हे के प्रथम शिव छत्रपति क्रीड़ा पुरस्कार खिलाड़ी कुंदन नायडू, सभी प्रशिक्षक और पालको ने तय किया है की वे न्याय के लिए लड़ेंगे और उन्होंने राज्य स्केटिंग संघटना की मान्यता रद्द करने की अपील केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू, इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन, महाराष्ट्र ओलिंपिक असोसिएशन, महाराष्ट्र क्रीड़ा संचालनालय, माजी गृहराज्य मंत्री श्री हंसराज अहीर, खासदार श्री बालू धनोरकर, आमदार सुधीर मुनगंटीवार तथा नवनिर्वाचित किशोर जोरगेवार से की है.न्याय नही मिलने की सूरत में नायडू बंधुओ ने आमरण उपोषण करने का इशारा दिया है.